How to cure boils of children in hindi | छोटे बच्चों के फोड़े को कैसे ठीक करें

How to cure boils of children
How to cure boils of children in hindi

Introduction

How to cure boils of children in hindi: एक बच्चे का जन्म होता है तब घर में खुशियां भर जाती है I और साथ ही बच्चे के जन्म लेने से माता पिता की जिम्मेदारियां भी बहुत बढ़ जाती है I और उन्हें कई सारी परेशानियों से गुजरना भी पड़ता है यदि बच्चे बड़े हो तो आसानी से अपने माता पिता को बता सकते हैं I लेकिन छोटे बच्चों के साथ ऐसा नहीं वह सिर्फ रो कर बताने का प्रयास करते हैं I और एक मां से बेहतर उनकी बातों को और कौन समझ सकता है I

बच्चों को होने वाले किसी भी परेशानी में उनके मातापिता बहुत जल्दी परेशान हो जाते हैं I और यदि छोटे बच्चों को सर्दी खांसी और फोड़े फुंसी निकलते हैं तो मातापिता का सारा ध्यान अपने बच्चों के ऊपर ही रहता है I

बदलते मौसम के साथ बीमारियां भी आनी शुरू हो जाती है I और यदि हम सावधान और सतर्क ना रहे I तो इससे कई प्रकार की बीमारियों को भी हम देखेंगे जैसे इंफेक्शन होने लगना फोड़े फुंसी रैशज और यह बरसात और गर्मी के समय में अधिक होते हैं I

छोटे बच्चों को होने वाली यही समस्याओं को ध्यान में रखते हुए आज हम कई सारी जानकारी को पाएंगे I बच्चों से संबंधित फोड़े फुंसी को लेकर के जैसे कि यह क्यों बच्चों को होता है I इसका इलाज क्या है आगे हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए I इन सब बातों को जानने के लिए आप आराम से इसे पढ़ें यह बातें आपके बहुत काम की है I

बच्चों को क्यों होते हैं फोड़े फुंसी और बच्चों को इन से कैसे बचाएं | How to cure boils of children in hindi

फोड़े फुंसी का होना यह साधारण बात है और लगभग लगभग सभी को होता है I लेकिन फिर भी हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे बच्चों को हमेशा साफसुथरे कपड़े पहनाए I और यदि डायपर पहना रहे हैं तो उसे हमेशा पहनाकर ना रखें छोटे बच्चे के बिस्तर और बैड बहुत ही साफ सुथरा रखें I

और बच्चों को सफाई अच्छे से करें क्योंकि फोड़े फुंसी गंदे के कारण ही होते हैं I और जब हम उन्हें कहीं बाहर गंदे जगह में ले जाकर ऐसे ही छोड़ देते हैं तब यह समस्या होने लगती है इसलिए जब आप बच्चों को कहीं बाहर ले जाएं तब भी उनका ध्यान रखें I कि वह गंदगी में ना रहे या गंदे हाथों से कोई उन्हें ना छुए यह बातें थोड़ी मुश्किल जरूर है I लेकिन यदि हम सतर्कता और ध्यान दें तो छोटे बच्चों को बहुत हद तक इन बातों से बचा सकते हैं I

और गर्मी के दिन नीम के पत्तों के पानी से उनके शरीर की सफाई करें एक सूती के कपड़े से या नीम के पत्ते को पीसकर I उनके पूरे शरीर पर लगा दे और फिर उन्हें नहा दे पुराने जमाने के यह नुस्खे जो आज भी हमारे बहुत काम सकती है I

फोड़े फुंसी के लक्षणों को कैसे पहचाने

छोटे बच्चों को होने वाले फोड़े फुंसी के लक्षणों को आइए हम विस्तार से समझे:

बच्चों की स्किन पर लाल और कठोर जैसा कुछ दिखाई देने लगे I और बच्चे के शरीर में उस फुंसी का बढ़ना और दर्द देना I और कई बार उस फुंसी के बीच में सफेद या पीले रंग का निशान दिखाई पड़ना तो फोड़े और फुंसी का शुरुआत है I

इस हिस्से में गंदगी जमा होने की वजह से ऐसा होता है और यह फोड़ा या फुंसी अपने आप उसी गंदगी को बाहर निकालता है I छोटे बच्चों के स्किन में पहले फोड़े की जगह के आसपास अन्य फोड़े और फुंसी हो सकते हैं I और यदि बच्चे के शरीर का तापमान बढ़ जाता है तो उसे तेज बुखार हो जाता है I तो फोड़े फुंसी के आसपास के हिस्से में सूजन जाती है और यह दर्द भी देता है I

बच्चों के फोड़े फुंसी का इलाज

यदि नॉर्मल फोड़े फुंसी हैं तो आप उन्हें घर में भी घरेलू उपचार के द्वारा भी ठीक कर सकते हैं

इसके लिए आप एक चम्मच हल्दी में आधा चम्मच तेल डाल कर के उसको अच्छे से मिला ले फिर जहां पर फोड़ा फुंसी हुआ है I वहीं पर उस हल्दी को पूरी तरह से लगा दे I उस फोड़े फुंसी की जगह पर आप देखेंगे कुछ ही दिनों में वह ठीक हो जाएगा I

ध्यान दें यह सिर्फ साधारण फोड़े फुंसी के लिए I लेकिन यदि थोड़ा गंभीर और फुंसी असाधारण है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें और एक अच्छे डॉक्टर से दिखाए I

आगे भी हम लोग मिलेंगे ऐसे ही रोचक जानकारियों को लेते हुए और आप जरूर बताएं यह बातें आपको कैसी लगी आगे भी हम लोग आप लोग के लिए ऐसे ही बातें को लाते रहेंगे तब तक मुस्कुराते रहें और खुशियां बांटते रहें

Homepage: https://technosoch.com/

How to cure boils of children in hindi

Leave a Comment