PM fasal bima yojana in Hindi |प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

PM fasal bima yojana in Hindi : नमस्कार दोस्तों , स्वागत है आपका हिंदी ब्लॉग Technosoch.com में | आज मैं इस आर्टिकल के माध्यम से बात करूँगा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ कैसे मिलता हैं | अगर आप इसके बारे में नहीं जानते है तो आप सही जगह आए हैं , यहाँ पर आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी , इसके लिए आर्टिकल को पूरा पढ़े |

तो आइये इस पोस्ट ( PM fasal Bima Yojna in Hindi |प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ) के माध्यम से जानते है जिसे नीचे विस्तार से बताया गया हैं |

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना 18 फरवरी 2016 को प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। 21 राज्यों ने इस योजना को खरीफ 2016 में लागू किया जबकि 23 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों ने रबी 2016-17 में इस योजना को लागू किया है। 31.03.2017 को उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, लगभग 3.7 करोड़ किसानों को खरीफ 2016 में 3.7 करोड़ हेक्टेयर भूमि के लिए 16212 करोड़ रुपये के प्रीमियम पर 128568.94 करोड़ रुपये की बीमा राशि का बीमा किया गया है। PM fasal Bima Yojna in Hindi

यह योजना पैनल में शामिल साधारण बीमा कंपनियों द्वारा कार्यान्वित की जाती है। कार्यान्वयन एजेंसी (आईए) का चयन संबंधित राज्य सरकार द्वारा बोली के माध्यम से किया जाता है। अधिसूचित फसलों के लिए फसल ऋण / केसीसी खाते का लाभ उठाने वाले ऋणी किसानों के लिए योजना अनिवार्य है और अन्य के लिए स्वैच्छिक है। इस योजना का संचालन कृषि मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।

तो आइये इसके बारे में पुरे विस्तार से चर्चा करते हैं |

What is PM fasal bima yojana in Hindi |प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

PMFBY को 2016 में लॉन्च किया गया था और यह भारत में सभी मौजूदा यील्ड बीमा योजनाओं की जगह लेता है। यह योजना फसल क्षेत्र पर जोर देने के साथ शुरू की गई है। इस योजना ने स्थानीय जोखिमों, कटाई के बाद के नुकसान आदि के तहत कवरेज बढ़ाया है और इसका उद्देश्य उपज अनुमान के उद्देश्य से प्रौद्योगिकी को अपनाना है। बढ़ी हुई किसान जागरूकता और कम किसान प्रीमियम दरों के माध्यम से इस योजना का उद्देश्य भारत में फसल बीमा की पहुंच बढ़ाना है। PM fasal Bima Yojna in Hindi

उद्देश्य:
प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) का उद्देश्य कृषि क्षेत्र में सतत उत्पादन का समर्थन करना है –

क) अप्रत्याशित घटनाओं के कारण फसल के नुकसान/क्षति से पीड़ित किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना

ख) किसानों की खेती में निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए उनकी आय को स्थिर करना

ग) किसानों को नवीन और आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना

घ) कृषि क्षेत्र को ऋण का प्रवाह सुनिश्चित करना; जो किसानों को उत्पादन जोखिमों से बचाने के अलावा खाद्य सुरक्षा, फसल विविधीकरण और कृषि क्षेत्र की वृद्धि और प्रतिस्पर्धात्मकता में योगदान देगा।

काफी समय से किसान मांग कर रहे थे कि पीएम फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक किया जाए। मोदी सरकार ने खरीफ-2020 से इसे स्वैच्छिक कर दिया है। दरअसल, कुछ किसानों की शिकायत थी कि नुकसान होने पर बीमा कंपनियां सुनवाई नहीं करती हैं और किसानों के साथ ठगी करती हैं, इसलिए ये मांग की जा रही थी। PM fasal Bima Yojna in Hindi

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का दावा है कि इस योजना के स्वैच्छिक होने के बावजूद हर साल करीब 5.5 करोड़ किसान स्कीम से जुड़ते हैं। दिसंबर-2020 तक किसानों ने लगभग 19 हजार करोड़ रुपये का प्रीमियम भरा और मुआवजे के तौर पर किसानों को करीब 90 हजार करोड़ रुपये का भुगतान हुआ। PM fasal Bima Yojna in Hindi

कितना चुकाना होता है प्रीमियम?

पीएम फसल बीमा योजना में किसान बीमा लागत का सिर्फ 1.5-2% रकम चुकाता है और बाकी रकम केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर देती है। यानी आप कुल 1 लाख रुपये का बीमा करवाते हैं तो आपको सिर्फ 2 हजार रुपये प्रीमियम के तौर पर देने होंगे। पीएम फसल बीमा योजना (PMFBY) का उद्देश्य किसानों की फसल को बाढ़, आंधी, ओले और तेज बारिश से होने वाले नुकसान की भरपाई करना है। PM fasal Bima Yojna in Hindi

PMFBY का कैसे उठाएं फायदा?

खेत में फसल की बुआई के 10 दिनों के अंदर आपको PMFBY का फॉर्म भरना जरूरी है। फसल काटने से लेकर तैयार करने के 14 दिनों के बीच अगर आपकी फसल को प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है, तब भी आप PM फसल बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत अपनी फसल को सुरक्षित करने के लिए किसान ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीके से फॉर्म ले सकते हैं। अगर आप फॉर्म ऑफलाइन लेना चाहते हैं तो अपने नजदीकी बैंक की ब्रांच में जाकर PM फसल बीमा योजना का फॉर्म भर सकते हैं। ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए आप PMFBY की वेबसाइट (https://pmfby.gov.in/) पर जा सकते हैं। PM fasal Bima Yojna in Hindi

PMFBY के लिए चाहिए कौन से दस्तावेज?

अगर आप भी PMFBY का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए किसान की एक फोटो, आईडी कार्ड (आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड), पते का प्रमाण पत्र, खेत का खसरा नंबर आदि चाहिए। इसके साथ ही किसान को सरपंच या पटवारी से खेत में बुआई होने से संबंधित एक पत्र भी लगाना होता है।

अगर किसान अपने खेत में खेती नहीं कर रहा है तो उसे खेत मालिक के साथ हुए करार की कॉपी की फोटोकॉपी देनी होती है। इस पेपर में खेत का खाता/ खसरा नंबर साफ तौर पर लिखा होना चाहिए। फसल को नुकसान होने की स्थिति में आपके बैंक खाते में रकम पाने के लिए एक रद्द चेक लगाना जरूरी है। PM fasal Bima Yojna in Hindi

फसल को नुकसान होने पर क्या करें ?

अगर आपने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत अपनी फसल का बीमा कराया है और फसल को नुकसान होने की स्थिति में आप उसके उसके मुआवजे के लिए दावा करना चाहते हैं तो उसके लिए भारत सरकार ने कई हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। इसके साथ ही PMFBY के तहत फसल नुकसान की खबर देने के लिए ईमेल आईडी भी जारी किया गया है। PM fasal Bima Yojna in Hindi

फसल को नुकसान होने की स्थिति में आप फसल बीमा ऐप से भी उसकी जानकारी दे सकते हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत किसान को फसल का नुकसान होने पर इसकी जानकारी बीमा कंपनी को देनी होती है। PM fasal Bima Yojna in Hindi

मैं आशा करता हूँ की आपको मेरी यह आर्टिकल पसंद आई होगी , अगर आपको मेरी यह आर्टिकल पसंद आई है तो आप इसे लाइक करे और अपने दोस्तों , फॅमिली और ग्रुप में जरुर शेयर करे ताकि उन्हें भी इसकी जानकारी मिल सके |

धन्यवाद !!!

2 thoughts on “PM fasal bima yojana in Hindi |प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना”

Leave a Comment